ओलंपिक के दौर में बढ़ा स्पोर्ट्स का क्रेज, ख‍िलाड़ी ही नहीं आप भी बना सकते हैं ये करियर – Career in sports what are the chances eligibility study salary tedu

खेलकूद में दिनभर व्यस्त रहने वाले छात्रों को यही कहा जाता है कि इसकी जगह पढ़ाई पर ध्यान दो अच्छा करियर बना सकते हो. लेकिन अब स्कूल भी छात्रों को पढाई के साथ साथ खेलों के लिए प्रमोट करते हैं. खेलों की दुनिया में अब करियर के नए आयाम विकसित हो रहे हैं. करियर सलाहकार और डिजाइन सर्किल के निदेशक सुमित सौरभ से जानिए स्पोर्ट्स के क्षेत्र में करियर बनाने की क्या संभावनाएं हैं. 

हाल ही के ओलंपिक खेलों में भारतीय खिलाड़ियों ने खूब नाम कमाया है.  इसी के साथ करियर विकल्प के तौर पर खेल जगत में करियर की संभावनाओं पर भी खूब बात हो रही है. स्पोर्ट्स की दुनिया में बतौर खिलाड़ी ही नहीं, कई अन्य तरीकों से भी तरह से जुड़ सकते हैं. बचपन से बड़े होने तक और उसके बाद भी हर किसी को किसी न किसी खेल में रुचि रही है.

कईयों में खेलों को लेकर बचपन से रुचि होती है. अगर आप भी उनमें से एक है जो खेल में करियर बनाना चाहते हैं तो आपके लिए इस फील्ड में कई क्षेत्रों में मौके मिल सकते हैं. यहां आप अच्छी सैलरी के साथ-साथ अच्छी नौकरी भी पा सकते हैं. राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आए दिन होने वाले तरह तरह के मैच और प्रतियोगिताओं के कारण खेल, खिलाड़ी और उससे जुडे़ लोगों के लिए करियर, ग्लैमर और अच्छा पद सब कुछ संभव है. खेलों में बढ़ते स्कोप के कारण आज इसमें तरह तरह के करियर और काम निकलकर सामने आ रहे हैं. आइए जानें इनमें से कुछ क्षेत्र… 

स्पोर्ट्स फोटोग्राफी

एक स्पोर्ट्स फोटोग्राफर खेलों के आयोजन, टीम या किसी एथलीट के प्रदर्शन के दौरान या बाद के क्षणों को कैमरे में कैद करता है. आप इस फील्ड में फ्रीलांसर के रूप में भी काम कर सकते हैं और किसी टीम के साथ भी काम पा सकते हैं. इस तरह आप अपनी फोटो को विभिन्न प्रकाशनों या समाचार पत्रों को उपलब्ध करा सकते हैं. 

फोटोग्राफी एक ऑनफील्ड करियर है. इसके लिए आप में खासकर कुछ गुण होने चाहिए. इसके लिए फोटोग्राफी के लिए प्रशिक्षण के साथ जुनून जरूरी है, तुरंत निर्णय और महत्वपूर्ण पल को भांपकर उसे कैमरे में कैद करने की मानसिक और शारीरिक तेजी आप में होनी चाहिए, खेलों के प्रति रुझान होना आधारभूत जरूरत है. 

स्पोर्ट्स जर्नलिज्म: 

क्रिकेट की दुनिया से खेल के दौरान की और खेल के बाहर की कहानियों को हम तक पहुंचाने के लिए उनका नाम  कुछेक स्पोर्ट्स जर्नलिस्टों में गिना जाता है. अगर आपको स्पोर्ट्स प्रतियोगिताओं के लिए लिखना या कमेंट्री करना पसंद है तो निश्चित रूप से खेल जगत का यह फील्ड आपके लिए ही बना है. इसके लिए आप में कुछ स्किल भी होना चाहिए- इंटरव्यू करने में खास हुनरमंद हो, लेखन क्षमता पैनी हो, खेलों की अच्छी जानकारी रखनी होगी. 

स्पोर्ट्स मैनेजमेंट में करियर
 
कुछ छात्र खेल के साथ मनोरंजन भी पसंद करते हैं तो वो स्पोर्ट्स मैनेजमेंट जैसी फील्ड में करियर बना सकते हैं. आजकल ऐसे कई बडे स्पोर्ट्स इवेंट्स होते है, जिनमें स्पोर्ट्स मैनेजर की भूमिका काफी अहम होती है. स्पोर्ट्स मैनेजमेंट में विज्ञापन, सुरक्षा ऑडियंस आदि शामिल होता है. 

फिटनेस एक्सपर्ट में करियर 

स्पोर्ट्स पर्सन किसी एथलीट से कम नहीं होता है और अपनी इस खूबी का फायदा वह फिटनेस सेंटर या हेल्थ क्लब में बतौर फिटनेस एक्सपर्ट के रूप में उठा सकते हैं. तेजी से भागती इस जिंदगी में सभी को फिट रहने की चाह है जिसके चलते फिटनेस एक्सपर्ट भी अच्छा करियर हो सकता है. 

स्पोर्ट्स कोच

यह तो सभी जानते हैं कि एक अच्छे खिलाड़ी के पीछे उसके कोच की मेहनत छुपी होती है. एस स्पोर्ट्स कोच खिलाड़ी को निर्देश ही नहीं देता, वह उसके लिए सपोर्ट भी बनता है. खिलाडी की जरूरत के अनुसार ट्रेनिंग प्रोग्राम बनाता है. आप स्पोर्ट्स कोचिंग, स्पोर्ट्स मैनेजमेंट या स्पोर्ट्स साइंस की डिग्री ले सकते हैं. इसके लिए कुछ स्किल भी आपकी शख्सीयत में होने चाहिए. आपको स्ट्रेटजी बनाना और उसका अमल करने के तरीके आने चाहिए, काम में धैर्य की खास जरूरत होती है. सामने वाले को कैसे प्रेरित कर सके, इसका भी कौशल होना चाहिए, टीम बिल्डिंग में भी हुनरमंद होना चाहिए. 

कमेंटेटर 

स्पोर्ट्स एक ऐसा क्षेत्र है, जहां यदि आपका खेलों के प्रति जूनून है और किसी भी कारण की वजह से इसमें बतौर खिलाड़ी सफल नहीं हो सके तो आप खेल कमेंटेटर बन सकते हैं. केवल क्रिकेट ही नहीं बल्कि अन्य खेलों में भी कमेंटेटर की आवश्यकता होती है और फील्ड में भी आगे काफी अच्छे करियर स्कोप है.