देखिएः गांधी जयंती पर 2 किमी ऊंची चोटी पर सबसे बड़ा तिरंगा ले पहुंचे जवान, ऐसे लहराया 14 क्विंटल का तिरंगा

यह तिरंगा खादी से बना दुनिया का सबसे बड़ा भारतीय झंडा है। इसकी लंबाई 225 फीट, चौड़ाई 150 फीट और वजन 1400 किलोग्राम है। इस ध्वज को तैयार करने में 49 दिन का समय लगा है।

गांधी जयंती के अवसर पर शनिवार को देश में सबसे बड़ा खादी से बना तिरंगा फहराया गया। 14 क्विंटल वजनी इस तिरंगे को सेना के जवान लेह में स्थित एक पहाड़ की ऊंची चोटी पर लेकर पहुंचे, जहां इसे फहराया गया। सैनिक इसे पैदल ही लेकर पहाड़ पर चढ़े थे।

एनआई के अनुसार भारतीय सेना की 57 इंजीनियर रेजिमेंट के 150 सैनिकों ने खादी से बने दुनिया के सबसे बड़े भारतीय राष्ट्रीय ध्वज को लेह, लद्दाख में जमीन से 2000 फीट ऊपर एक पहाड़ी की चोटी पर ले गए। इस दौरान सैनिकों को चोटी पर पहुंचने में दो घंटे लग गए।

लेह के खादी और ग्रामोद्योग आयोग के अध्यक्ष विनय कुमार सक्सेना ने कहा इस पर और जानकारी देते हुए कहा कि यह राष्ट्रीय ध्वज खादी से बना दुनिया का सबसे बड़ा भारतीय झंडा है। इसकी लंबाई 225 फीट, चौड़ाई 150 फीट और वजन 1400 किलोग्राम है। झंडा 37,500 वर्ग फुट क्षेत्र को कवर करता है। इस ध्वज को तैयार करने में 49 दिन का समय लगा है।

इस झंडे को लद्दाख के एलजी आरके माथुर ने अनावरण किया। एलजी ने इस मौके पर कहा कि गांधी जी ने कहा था कि हमारा झंडा एकता, मानवता का प्रतीक है। देश में हर किसी ने इसे स्वीकार किया है। यह देश के लिए महानता का प्रतीक है…आने वाले वर्षों में, यह झंडा हमारे सैनिकों के लिए उत्साह का प्रतीक होगा।

सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी अन्य अधिकारियों के साथ इस कार्यक्रम में मौजूद रहे। नरवणे लद्दाख के दो दिवसीय दौरे पर हैं। इस दौरान भारतीय वायु सेना के हेलीकॉप्टरों को भी राष्ट्रीय ध्वज को सलामी और सम्मान देने के लिए कार्यक्रम स्थल पर उड़ते हुए देखा गया। वीडियो में ये भी देखा जा सकता है कि किस तरह से सैनिकों का एक जत्था इस तिरंगे को लेकर पहाड़ की चढ़ाई कर रहा है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने ट्विटर पर इस कार्यक्रम का वीडियो शेयर करते हुए कहा कि यह बहुत गर्व का क्षण है कि गांधी जी की जयंती पर, लेह, लद्दाख में दुनिया के सबसे बड़े खादी तिरंगे का अनावरण किया गया। मैं इसे सलाम करता हूं। ये बापू की स्मृति को याद करता है। भारतीय कारीगरों को बढ़ावा देता है और राष्ट्र का सम्मान भी करता है। जय हिंद, जय भारत!