धोनी ने दिलाई वर्ल्ड कप फाइनल की याद, आसमानी छक्का जड़कर जीता फैंस का दिल – IPL 2021 44th match MS Dhoni finishes off in style with a huge six against Sunrisers Hyderabad

स्टोरी हाइलाइट्स

  • एमएस धोनी ने दिलाई 2011 वर्ल्ड कप फाइनल की याद
  • CSK IPL-14 के प्लेऑफ में पहुंचने वाली पहली टीम

पूर्व कप्तान एमएस धोनी ने कई सालों तक भारत के लिए फिनिशर की भूमिका निभाई. 2011 विश्व कप के फाइनल में उन्होंने नुवान कुलसेकरा की गेंद पर छक्का जड़कर भारत को खिताबी जीत दिलाई थी. उनका यह शॉट फैंस के दिलों में सदा के लिए बस चुका है. एक बार फिर धोनी ने  गुरुवार को आईपीएल मैच में ठीक उसी अंदाज में सिक्सर लगाकर चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को जीत दिला दी.

सीएसके के कप्तान धोनी ने सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) के गेंदबाज सिद्धार्थ कौल की गेंद पर डीप मिडविकेट की तरफ यह 96 मीटर लंबा छक्का लगाया. इस विजयी सिक्सर के साथ ही चेन्नई ने छह विकेट से मुकाबला जीतते हुए 11वीं बार प्लेऑफ में जगह बना ली. धोनी ने 11 गेंदों पर नाबाद 14 रनों की पारी खेली. 

सनराइजर्स प्लेऑफ की रेस से बाहर

मुकाबले की बात करें तो शारजाह में खेले गए मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में 7 विकेट पर 134 रन बनाए. विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा ने सबसे ज्यादा 44 रनों की पारी खेली. सीएसके के लिए जोश हेजलवुड ने सबसे ज्यादा तीन और ड्वेन ब्रावो ने दो विकेट चटकाए.

जवाब में चेन्नई ने 19.4 ओवरों में चार विकेट पर 139 रन बनाकर मैच जीत लिया. चेन्नई के ओपनरों ऋतुराज गायकवाड़‌ ने सबसे ज्यादा 45 और फाफ डु प्लेसिस ने 41 रनों की पारी खेली. इसके साथ ही चेन्नई आईपीएल 2021 के प्लेऑफ में पहुंचने वाली पहली टीम बन गई. वहीं, सनराइजर्स हैदराबाद आधिकारिक रूप से प्लेऑफ की रेस से बाहर हो गई. 

… चौथी बार खिताब जीतने का मौका

एमएस धोनी की कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स तीन बार आईपीएल का खिताब जीत चुकी है. लेकिन पिछला आईपीएल सीजन चेन्नई के लिए बहुत खराब रहा था. पिछले आईपीएल में सीएसके 14 में से मात्र 6 मैच जीत पाए थी और अंक तालिका में 7वें पायदान पर रही थी. ऐसे में आईपीएल-14 को जीतकर धोनी अपने सीएसके फैंस को यादगार तोहफा देना चाहेंगे. 

40 साल के धोनी ने 15 अगस्त 2020 को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था. भारत के लिए 350 वनडे, 98 टी20 इंटरनेशनल और 90 टेस्ट मैच खेलकर 17266 रन बनाए. इस दौरान उन्होंने 108 अर्धशतक और 16 शतक लगाए. धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया तीन आईसीसी खिताब जीतने में सफल रही थी.