नई कार से स्कूल पहुंचे थे प्रिंसिपल तो टीचर के दिल में बसता था श्रीनगर, आतंकियों ने ID देखकर मारी गोली | terrorists open fire on civilians in srinagar tjammu and kashmir killed a teacher and a principal

नई कार से स्कूल पहुंचे थे प्रिंसिपल तो टीचर के दिल में बसता था श्रीनगर, आतंकियों ने ID देखकर मारी गोली

आतंकवादियों की फायरिंग में मारे गए दो टीचर्स

श्रीनगर के गवर्नमेंट बॉयज हायर सेकेंडरी स्कूल में गुरुवार को आतंककियों के हमले में दो लोग मारे गए थे. इनमें से एक स्कूल के प्रिंसिपल और एक टीचर थे. आतंकवादियों की तरफ से की गई फायरिंग में मारे गए दोनों टीचर्स में से एक कश्मीरी पंडित है, जो वर्तमान में बटामालू श्रीनगर में रह रहे थे. उनकी पहचान जम्मू के दीपक चंद के रूप में हुई है. वहीं दूसरी महिला स्कूल की प्रिंसिपल सुपिंदर कौर हैं. दीपक चंद हमेशा अच्छे मौसम और अच्छे लोगों की ओर इशारा करते हुए, जम्मू में अपने रिश्तेदारों को श्रीनगर आने के लिए आमंत्रित करते थे. तो वहीं उनके स्कूल की प्रिंसिपल पहली बार अपनी नई कार श्रीनगर ले गयी थीं.

पिछले हफ्ते ही दीपक चंद श्रीनगर में काम पर लौटने से पहले अपनी पत्नी और बेटी को घर छोड़ने जम्मू आए थे. चंद के चचेरे भाई विक्की मेहरा ने बताया कि बुधवार शाम लगभग 7.30 बजे, उन्होंने अपने बड़े भाई को फोन कर कहा था कि वह अष्टमी (नवरात्र के आठवें दिन) पर घर आएंगे.उन्होंने अपनी चाची से भी बात की थी और उन्हें कश्मीर बुलाया था. इन सब बातों के 24 घंटे के अंदर ही चंद को आतंकवादियों ने गोली मार दी थी. आतंकियों ने स्कूल की प्रिंसिपल सुपिंदर कौर को भी गोली मार दी थी.

परिवारवालों को कश्मीर आने के लिए कहते थे

कश्मीरी पंडितों के लिए पीएम के रोजगार पैकेज के तहत उनकी नियुक्ति के बाद से दीपक चंद पिछले चार सालों से कश्मीर में पढ़ा रहे थे. विक्की मेहरा ने बताया कि दीपक यहां बहुत खुश थे और परिवार के सभी लोगों को कश्मीर आने के लिए कहते थे. वह हमें बताते थे कि डरने की कोई बात नहीं है, लोग बहुत अच्छे हैं, मौसम अच्छा है और कोई तनाव नहीं है. चंद के परिवार में उनकी पत्नी आराधना और मां कांता हैं.उनके पिता लाल चंद का पिछले साल निधन हो गया था.परिवार में उनके बड़े भाई कमल मेहरा और एक विवाहित बहन भी हैं.

पहली बार नई कार से स्कूल गई थीं

दूसरी ओर श्रीनगर के अलोचा बाग में, सुपिंदर कौर की भाभी ने कहा कि वह पहली बार अपनी नई कार से स्कूल गई थी. वो तीन साल से गाड़ी चलाना सीख रही थी. सुपिंदर कौर की बेटी जसलीन कौर ने कहा कि उसने अपनी मां से फोन पर बात की थी.सातवीं कक्षा की छात्रा जसलीन ने कहा कि मैं अपनी ऑनलाइन क्लास ले रही थी जब उनका फोन आया और जब मैंने दोबारा फोन किया, तो किसी ने भी कॉल का जवाब नहीं दिया. बाद में परिवार को गोलीबारी के बारे में सूचना मिली. बडगाम की रहने वाली सुपिंदर कौर अपने पति रामरेश पॉल सिंह और अपनी बेटी और बेटे के साथ करीब एक दशक पहले इस इलाके में आई थी. उनके दोनों बच्चे दिल्ली पब्लिक स्कूल-श्रीनगर के स्टूडेंट हैं.

श्रीनगर में आतंकवादियों ने आम नागरिकों पर की फायरिंग

जम्मू- कश्मीर के श्रीनगर के ईदगाह इलाके में गुरुवार को आतंकवादियों ने आम नागरिकों पर फायरिंग की थी. फायरिंग की इस घटना में जहां दो टीचर्स की मौत हो गई थी , वहीं कई नागरिक घायल हैं. आतंकवादियों की तरफ से की गई फायरिंग में श्रीनगर के गवर्नमेंट बॉयज हायर सेकेंडरी स्कूल में दो लोग मारे गए थे. इनमें से एक स्कूल के प्रिंसिपल और एक टीचर थे. आतंकवादियों की तरफ से की गई फायरिंग में मारे गए दोनों टीचर्स में से एक कश्मीरी पंडित है, जो वर्तमान में बटामालू श्रीनगर में रह रहे थे. उनकी पहचान जम्मू के दीपक चंद के रूप में हुई है. वहीं दूसरी महिला स्कूल की प्रिंसिपल सुपिंदर कौर हैं. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुबह करीब सवा 11 बजे तीन आंतकवादियों ने श्रीनगर जिले के संगम ईदगाह इलाके में दो टीचर्स की गोली मारकर हत्या कर दी थी. इलाके की घेराबंदी कर हमलावरों की तलाश जारी है.

ये भी पढ़ें: तबाह होंगे पाक के बख्तरबंद ठिकाने, पैराट्रूपर्स दिखाएंगे भारत-पाक जंग की तस्वीर, जानिए Air Force Day में क्या-क्या होगा खास

ये भी पढ़ें: Air Force Day Parade: 1971 की जीत के रंग में रंगेगा आसमान! राफेल, मिग और मिराज भरेंगे उड़ान, गर्व से फूल जाएगा सीना