संस्कृति विभाग की ई-डायरेक्ट्री और ऐप होगा लॉन्च – Culture Department will e-Directory and app launch

प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत को बचाने की पहल

कलाकारों को भी मिलेगा आगे बढ़ने का मंच

एनबीटी, लखनऊ

संस्कृति विभाग ने कलाकारों को बेहतर मंच दिलाने और लोगों तक पहुंच बनाने के लिए खास योजना तैयार की है। कलाकार निर्देशिका और विभाग के मोबाइल ऐप की मदद से यह संभव हो सकेगा। साथ हर महीने लोहिया पार्क में दो दिवसीय कल्चरल मेले का भी आयोजन किया जाएगा। योजना का शुभारंभ सीएम करेंगे। हालांकि अभी इसकी तारीख तय नहीं हो सकी है।

संस्कृति विभाग की सचिव निदेशक अनीता सी मेश्राम के अनुसार प्रदेश भर के सैकड़ों कलाकारों को सांस्कृतिक आयोजनों से सीधे जोड़ने और लुप्त होती कलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए योजना बनाई गई है। इसमें कथक, तबला, गायन ही नहीं लोक कलाकारों को भी शामिल किया गया है। पहले चरण में कलाकारों के नाम, विधा, एड्रेस और संपर्क नंबर को डायरेक्ट्री में प्रकाशित कराया जा रहा है। दूसरे चरण में इसे इंटरनेट पर अपलोड किया जाएगा। यही नहीं मोबाइल ऐप भी तैयार किया जा रहा है, जिसकी सहायता से विभाग की योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी एक क्लिक पर उपलब्ध हो सकेगी।

वहीं, लोहिया पार्क में हर माह के तीसरे शुक्रवार और शनिवार को सांझी विरासत के नाम से सांस्कृतिक मेले का आयोजन किया जाएगा। मई से सितम्बर तक शाम सात से नौ और अक्टूबर से मार्च तक शाम छह से आठ बजे तक का समय निर्धारित किया गया है। इसके तहत पहले दिन सांस्कृतिक अंचल, जबकि दूसरे दिन सरकारी संस्थान की प्रस्तुतियां होंगी। इसके सारेगामा के विजेता हेमंत बृजवासी को भी आमंत्रित किया गया है। लुप्त होती कलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए बृज का ख्याल और लावणी दंगल की प्रस्तुतियों के चलते पहचाना जाने वाले मथुरा के स्वास्तिका रंगमंडल को जोड़ा गया है। जबकि मथुरा के हरीबाबू को हवेली संगीत के लिए आमंत्रित किया गया है। वहीं, आगरा के अनिल शुक्ला भगत और मथुरा के हरीश कुमार लांगुरिया पेश करेंगे।