after uttarakhand now china intruded in arunachal: China India News china and indian army clash in arunachal pradesh : अब अरुणाचल प्रदेश में चीन का दुस्साहस, सीमा लांघी तो भारतीय जवानों ने उल्टे पैर दौड़ाया

हाइलाइट्स

  • पूर्वी लद्दाख में चीन और भारत के सैनिकों के बीच टकराव की स्थिति
  • उत्तराखंड के बाराहोती में पिछले दिनों चीन की तरफ से हुई थी घुसपैठ की कोशिश
  • चीनी सैनिकों ने तब पुल को क्षतिग्रस्त कर दिया था

नई दिल्ली
पूर्वी लद्दाख के साथ-साथ चीन अब बॉर्डर पर टकराव के नए मोर्चे खोलता दिख रहा है। उत्तराखंड के बाराहोती के बाद अब अरुणाचल प्रदेश में चीन के करीब 200 सैनिक तिब्बत की तरफ से भारत की जमीन में घुस आए। सूत्रों ने बताया है कि पिछले हफ्ते चीनी सैनिक LAC क्रॉस कर भारत की तरफ आ गए थे। अरुणाचल सेक्टर में एलएसी पर भारत और चीन के सैनिकों के बीच झड़प हुई। यह झड़प कुछ घंटे तक चली।

किसी को हिरासत में नहीं लिया: सेना
सेना के सूत्रों ने बताया है कि कुछ घंटे तक फिजिकल इंगेजमेंट के बाद तय प्रोटोकॉल के हिसाब से मसले को सुलझा लिया गया। भारत की तरफ किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ है, किसी को हिरासत में नहीं लिया गया। जबकि कुछ रिपोर्टों में दावा किया जा रहा है कि 200 चीन के सैनिक भारत में घुस आए थे और कुछ देर के लिए चीन के सैनिकों को भारतीय फौज ने हिरासत में लिया था।
चीन को मिलेगा जवाब, एस-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम और टू फ्रंट वॉर पर क्या बोले एयरफोर्स चीफ
बंकरों को नुकसान पहुंचाने की रिपोर्ट गलत
कुछ मीडिया रिपोर्टों में दावा किया जा रहा है कि चीनी सैनिकों ने खाली बंकरों को नुकसान पहुंचाने की भी कोशिश की। तवांग में भारतीय सैनिकों ने चीन के जवानों को हिरासत में ले लिया। हालांकि यह कुछ देर के लिए अस्थायी ही था। सेना के सूत्रों ने इसका खंडन किया है।

लद्दाख से सटे तीन-तीन एयरबेस पर तैनात है PLA वायुसेना, IAF चीफ बोले- एयरक्राफ्ट शेल्‍टर्स बना रहा चीन
पढ़िए सेना ने क्या कहा
सेना के सूत्रों ने बताया कि लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर दोनों देशों के अपने परसेप्शन हैं। कभी-कभी दोनों देशों की पट्रोलिंग टीम का आमना सामना हो जाता है, तब फेसऑफ की सिचुएशन बनती है। इसे तय प्रोटोकॉल के हिसाब से निपटाया जाता है।

LAC के पास चीनी सैनिकों के पेट्रोलिंग में बड़ा बदलाव, गश्ती दल में चार गुना बढ़ोतरी
तब उत्तराखंड के बाराहोती में की थी हरकत
30 अगस्त को चीन की फौज के 100 से ज्यादा सैनिक बॉर्डर पार कर भारत में घुस आए थे और कई इन्फ्रास्ट्रक्चर को तहस-नहस कर दिया। हालात के बारे में जानकारी रखने वाले अधिकारियों ने बताया था कि वहां से पीछे लौटने से पहले चीनी सैनिकों ने एक पुल को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। इस घटना में दोनों सेनाओं के बीच आमने-सामने की स्थिति पैदा नहीं हुई क्योंकि जब तक भारतीय सैनिकों से उनका सामना होता PLA सैनिक लौट चुके थे। तब पता चला था कि तुन जुन ला पास पार कर 55 घोड़े और 100 से ज्यादा सैनिक भारतीय क्षेत्र में 5 किमी से ज्यादा अंदर आ गए थे।

लद्दाख के बाद उत्‍तराखंड, ड्रैगन ने एक और फ्रंट खोला? आर्मी चीफ ने बताया कहां-कहां मौजूद हैं चीनी सैनिक

india china border

फाइल फोटो