Air India bid:जल्द ही अमित शाह की अगुवाई वाले मंत्रीसमूह से मिलेंगे रतन टाटा और चंद्रशेखरन

टाटा समूह के मानद चेयरमैन रतन एन टाटा (Ratan N Tata) और टाटा संस के चेयरमैन नटराजन चंद्रशेखरन (Tata Sons chairman Natarajan Chandrasekaran) के जल्द ही एयर इंडिया (Air India) के लिए बोली के अंतिम रूप पर चर्चा करने के लिए गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) की अगुवाई वाले मंत्रियों के एक पैनल से मिलने की उम्मीद है। मनीकंट्रोल को ये जानकारी दो सूत्रों से प्राप्त हुई है।

सूत्रों के मुताबिक टाटा समूह (Tata Group) के प्रतिनिधियों में टाटा संस के infrastructure, defence and aerospace प्रेसिडेंट बनमाली अग्रवाल (Banmali Agrawal) और मुख्य फाइनेंशियल अधिकारी सौरभ अग्रवाल (Saurabh Agrawal) भी शामिल रहेंगे।

वहीं सरकार के पैनल में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman), वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल (Commerce Minister Piyush Goyal) और विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Aviation Minister Jyotiraditya Scindia) भी शामिल रहेंगे ऐसा सूत्रों से पता चला है।

Tata Sons कर्ज में डूबी इस राष्ट्रीय विमानन कंपनी के निजीकरण के लिए national carrier को खरीदने के लिए नवीनतम बोली में सबसे आगे रहा है

सूत्रों ने कहा कि मंत्रियों का पैनल टाटा समूह के प्रतिनिधियों के साथ सौदे को अंतिम रूप देने के लिए नेशनल कैरियर के कर्जे का पुनर्गठन, कर्मचारी अधिग्रहण, भुगतान का तरीका और भविष्य की योजनाओं पर चर्चा करेगा।

मनीकंट्रोल की रिपोर्ट के मुताबिक टाटा समूह एयर इंडिया में सरकार की 100 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करने के लिए अपनी बोली में एयरलाइन के कुल कर्ज का लगभग 15 प्रतिशत कर्ज लेने के लिए तैयार हो सकता है।

पिछले हफ्ते दो ग्रुप से वित्तीय बोली प्राप्त करने के बाद नागरिक उड्डयन मंत्रालय, इन्वेस्टमेंट एंड पब्लिक एसेट मैनेजमेंट विभाग और नागरिक उड्डयन महानिदेशालय के अधिकारियों ने टाटा समूह के अधिकारियों और स्पाइसजेट के अध्यक्ष अजय सिंह से एयर इंडिया की बिक्री पर चर्चा करने के लिए मुलाकात की थी।

सूत्रों ने मनीकंट्रोल को बताया कि सरकार ने इस सौदे के लिए न्यूनतम आरक्षित मूल्य लगभग 15,000 करोड़ रुपये निर्धारित किया है। नेशनल कैरियर के लिए इस आरक्षित मूल्य से कम के प्रस्तावों को सरकार स्वीकार नहीं करेगी।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।