Awareness Is The Only Protection Against Cyber Crime: Anurag – जागरूकता ही साइबर अपराध से बचाव : अनुराग

ख़बर सुनें

शामली। वीवी इंटर कालेज शामली में राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा साइबर क्राइम और जागरूकता विषय पर गोष्ठी आयोजित की गई। शुभारंभ प्रधानाचार्य एसके आर्य, कार्यक्रम अधिकारी डॉ. अनुराग शर्मा, एसआई बंटी सिंह ने किया। डॉ. अनुराग ने बताया कि जागरूकता ही साइबर अपराध से बचाव का सर्वश्रेष्ठ माध्यम है।
कंप्यूटर ऑपरेटर ललित कुमार, यशवेंद्र और मोहम्मद महताब अली ने बताया कि आज के समय में साइबर के शातिरों द्वारा लगातार साइबर अपराध किया जा रहा है। इसमें सोशल मीडिया को माध्यम बनाकर ही अपराध किया जाता है। जागरूकता के अभाव में भोले-भाले व्यक्ति इसके शिकार बन जाते हैं। कार्यक्रम अधिकारी डॉ. अनुराग शर्मा ने बताया कि किसी भी अनजान फोन कॉल, अज्ञात लिंक या अपरिचित व्यक्ति से किसी भी प्रकार की जानकारी शेयर नहीं करनी चाहिए। साथ के साथ फ्री गिफ्ट, लाटरी और लालच वाले मेसेज से बचना चाहिए।
प्रधानाचार्य एसके आर्य ने कहा कि शिक्षा के साथ सामाजिक चेतना के बिंदुओं पर भी छात्रों को जागृत रहना चाहिए। मौके पर गुरदास सिंह, सुमित, संजीव शर्मा, संदीप मित्तल, शाहिद, सुशील, शशिकांत, श्रवण, जुनेद, आदित्य, सुनील और रोहित आदि स्वयंसेवक मौजूद रहे।

शामली। वीवी इंटर कालेज शामली में राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा साइबर क्राइम और जागरूकता विषय पर गोष्ठी आयोजित की गई। शुभारंभ प्रधानाचार्य एसके आर्य, कार्यक्रम अधिकारी डॉ. अनुराग शर्मा, एसआई बंटी सिंह ने किया। डॉ. अनुराग ने बताया कि जागरूकता ही साइबर अपराध से बचाव का सर्वश्रेष्ठ माध्यम है।

कंप्यूटर ऑपरेटर ललित कुमार, यशवेंद्र और मोहम्मद महताब अली ने बताया कि आज के समय में साइबर के शातिरों द्वारा लगातार साइबर अपराध किया जा रहा है। इसमें सोशल मीडिया को माध्यम बनाकर ही अपराध किया जाता है। जागरूकता के अभाव में भोले-भाले व्यक्ति इसके शिकार बन जाते हैं। कार्यक्रम अधिकारी डॉ. अनुराग शर्मा ने बताया कि किसी भी अनजान फोन कॉल, अज्ञात लिंक या अपरिचित व्यक्ति से किसी भी प्रकार की जानकारी शेयर नहीं करनी चाहिए। साथ के साथ फ्री गिफ्ट, लाटरी और लालच वाले मेसेज से बचना चाहिए।

प्रधानाचार्य एसके आर्य ने कहा कि शिक्षा के साथ सामाजिक चेतना के बिंदुओं पर भी छात्रों को जागृत रहना चाहिए। मौके पर गुरदास सिंह, सुमित, संजीव शर्मा, संदीप मित्तल, शाहिद, सुशील, शशिकांत, श्रवण, जुनेद, आदित्य, सुनील और रोहित आदि स्वयंसेवक मौजूद रहे।