Chandigarh Crime, Postman, What Have You Done… Selling Letters At The Rate Of Rubbish, Arrested – डाकिया ये तूने क्या किया… रद्दी के भाव बेच रहा था चिट्ठियां, गिरफ्तार

ख़बर सुनें

चंडीगढ़। चिट्ठियों को उनके पते पर पहुंचाने की बजाय बेचने के लिए कबाड़ी के पास पहुंचे एक डाकिए को पुलिस ने धर दबोचा। आरोपी के बैग से करीब 50 किलो चिट्ठियां बरामद की गईं, जिन्हें वह रद्दी के भाव बेचने जा रहा था। मलोया थाना पुलिस ने मोहाली के तकीपुर निवासी जुमन (50) के खिलाफ मामला दर्ज कर बुधवार को उसे जिला अदालत में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।
डाक विभाग के पास कई दिनों से लोगों की शिकायत पहुंच रही थी कि उन्हें चिट्ठियां नहीं मिल रही हैं। मामले की पड़ताल के लिए विभाग के सेंट्रालाइज्ड डिलीवरी सिस्टम (सीडीएस) को लगाया गया। पुलिस को दी शिकायत में सेक्टर-36 स्थित सेंट्रालाइज्ड डिलीवरी सिस्टम (सीडीएस) के मैनेजर भीष्म चंद्र ने बताया कि उनके पास शिकायतें आ रही थीं कि साउथ डिवीजन स्थित सरकारी विभागों और लोगों के घरों में चिट्ठियां नहीं पहुंच रही हैं। इसके उन्होंने एक टीम का गठन कर मामले की पड़ताल शुरू करा दी। जांच में पाया गया कि साउथ डिवीजन की सभी चिट्ठियां डाकिया जुमन बांटता है। मंगलवार को जब जुमन चिट्ठियों को बांटने के लिए निकला तो उस पर नजर रखी गई। इस दौरान टीम ने पाया कि आरोपी डड्डूमाजरा की शाहपुर कॉलोनी में एक कबाड़ी की दुकान पर रद्दी के भाव से चिट्ठियां बेच रहा है। इसके बाद तुरंत पुलिस को सूचना दी गई। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को रंगेहाथ दबोच लिया।
बोला-पूरा नहीं पड़ रहा था खर्चा, इसलिए बेच रहा था चिट्ठियां
पुलिस जांच में सामने आया है कि आरोपी जुमन अपने रोजाना के खर्चे को पूरा करने के लिए चिट्ठियों को कबाड़ी के यहां बेच रहा था। इसके एवज में उसे 500 से 600 रुपये तक मिलने थे। बहरहाल, मलोया थाना पुलिस ने सभी चिट्ठियां कब्जे में लेे लिया है और आरोपी को जेल भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी है।

चंडीगढ़। चिट्ठियों को उनके पते पर पहुंचाने की बजाय बेचने के लिए कबाड़ी के पास पहुंचे एक डाकिए को पुलिस ने धर दबोचा। आरोपी के बैग से करीब 50 किलो चिट्ठियां बरामद की गईं, जिन्हें वह रद्दी के भाव बेचने जा रहा था। मलोया थाना पुलिस ने मोहाली के तकीपुर निवासी जुमन (50) के खिलाफ मामला दर्ज कर बुधवार को उसे जिला अदालत में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

डाक विभाग के पास कई दिनों से लोगों की शिकायत पहुंच रही थी कि उन्हें चिट्ठियां नहीं मिल रही हैं। मामले की पड़ताल के लिए विभाग के सेंट्रालाइज्ड डिलीवरी सिस्टम (सीडीएस) को लगाया गया। पुलिस को दी शिकायत में सेक्टर-36 स्थित सेंट्रालाइज्ड डिलीवरी सिस्टम (सीडीएस) के मैनेजर भीष्म चंद्र ने बताया कि उनके पास शिकायतें आ रही थीं कि साउथ डिवीजन स्थित सरकारी विभागों और लोगों के घरों में चिट्ठियां नहीं पहुंच रही हैं। इसके उन्होंने एक टीम का गठन कर मामले की पड़ताल शुरू करा दी। जांच में पाया गया कि साउथ डिवीजन की सभी चिट्ठियां डाकिया जुमन बांटता है। मंगलवार को जब जुमन चिट्ठियों को बांटने के लिए निकला तो उस पर नजर रखी गई। इस दौरान टीम ने पाया कि आरोपी डड्डूमाजरा की शाहपुर कॉलोनी में एक कबाड़ी की दुकान पर रद्दी के भाव से चिट्ठियां बेच रहा है। इसके बाद तुरंत पुलिस को सूचना दी गई। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को रंगेहाथ दबोच लिया।

बोला-पूरा नहीं पड़ रहा था खर्चा, इसलिए बेच रहा था चिट्ठियां

पुलिस जांच में सामने आया है कि आरोपी जुमन अपने रोजाना के खर्चे को पूरा करने के लिए चिट्ठियों को कबाड़ी के यहां बेच रहा था। इसके एवज में उसे 500 से 600 रुपये तक मिलने थे। बहरहाल, मलोया थाना पुलिस ने सभी चिट्ठियां कब्जे में लेे लिया है और आरोपी को जेल भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी है।