courses in ancient history: Courses In History: इतिहास में कर सकते हैं ये 7 नए कोर्स, मिलेगी अच्छी नौकरी और सैलरी – offbeat courses and fees in history

Courses In History: सभी छात्रों का किसी न किसी विषय से ख़ास लगाव होता है। अगर आपको अपनी संस्कृति और इतिहास के प्रति लगाव है तो आप हिस्ट्री में अपना शानदार करियर बना सकते हैं। यहां पर आपको हिस्ट्री के हर काल की राजनैतिक, आर्थिक और सामाजिक परिस्थिति के बारे में जानकारी मिलेगी। हिस्ट्री में करियर बनाने के लिए आपको 12वीं क्लास के बाद इस विषय से ग्रेजुएशन करना होगा। उसके बाद आप हिस्ट्री में अपनी क्षमता अनुसार पीजी, एमफिल और पीएचडी तक कर सकते हैं।

पुरातत्व (Archaeology)
इतिहास के छात्रों की पहली पसंद पुरातत्व में पढ़ाई करना होता है। क्योंकि अधिकांश भारतीय विश्वविद्यालय प्राचीन भारतीय संस्कृति और पुरातत्व में एमए पर पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं। ग्रेजुएशन के बाद कोई भी इस कोर्स को कर सकता है और फिर रिसर्च डिग्री के लिए जा सकता है। आप विदेश में अध्ययन करने और पुरातत्व में डिग्री हासिल करने का विकल्प भी चुन सकते हैं। पुरातत्वविदों का कार्य ऐतिहासिक व प्राचीन धरोहरों की खोज करना है। इसके लिए उन्‍हें अच्‍छी सैलरी मिलती है।

एंथ्रोपोलॉजिस्ट (Anthropology)
एंथ्रोपोलॉजिस्ट बनना भी दिलचस्प करियर विकल्पों में से एक हो सकता है। भारत के कई विश्वविद्यालयों में एंथ्रोपोलॉजी का अध्ययन कराया जाता है। इस विषय में अतीत और वर्तमान समाजों से मानव के विभिन्न पहलुओं का अध्ययन किया जाता है। एंथ्रोपोलॉजिस्ट के अध्ययन से संबंधित विभिन्न क्षेत्र भी हैं, जैसे- राजनीति, संस्कृति और भाषा आदि। इस विषय का अध्ययन काफी दिलचस्प होता है, इसमें आप भारत के साथ विदेश में भी रिसर्च कर सकते हैं।
इसे भी पढ़ें: Finance Management: फाइनेंस मैनेजमेंट की बदलती दुनिया के लिए ये टिप्स हैं बेहद जरूरी

सांस्कृतिक अध्ययन (Cultural Studies)
यदि आप संस्कृति में रुचि रखते हैं तो आप इस विषय में रिसर्च भी कर सकते हैं। भारत के कई विश्वविद्यालयों में सांस्कृतिक अध्ययन में एमए का कोर्स कराया जाता है। इसके पाठ्यक्रम में स्वदेशी संस्कृति, लोकगीत, मीडिया, सांस्कृतिक अध्ययन और सिद्धांत शामिल होते हैं। सांस्कृतिक अध्ययन आपको इस क्षेत्र में कई अन्य नौकरी के मौके भी देती है। आप कोर्स पूरा करने के बाद संग्रहालय, विरासत स्थलों, आर्ट गैलरी में अच्छी जॉब कर सकते हैं।

फ्रेस्को (FRESCO)
इतिहास के पाठ्यक्रम में फ्रेस्को या आर्ट रिस्टोरेशन सबसे दिलचस्प पाठ्यक्रमों में से एक है। इसमें आपको आर्ट रेस्‍टोरेशन करने का तरीका बताया जाता है, जिससे आप अपनी सांस्कृतिक विरासत को उसके मूल रूप में वापस ला सकें। खुदाई के दौरान कई बार ऐसी प्राचीन कृति व मूर्तियां मिलती हैं, जो अपने मूल अवस्था को खो चुकी होती है। ऐसे में इनका दोबारा से रेस्‍टोरेशन किया जाता है।

संग्रहालय विज्ञान (Museology)
संग्रहालय विज्ञान में संग्रहालयों का अध्ययन किया जाता है। ग्रेजुएशन के बाद आप संग्रहालय विज्ञान में एक कोर्स कर सकते हैं। कोर्स के दौरान आपको संग्रहालयों का इतिहास, दस्तावेज़ीकरण, कला, चित्रकारी के बारे में विस्तार से बताया जाएगा। इस क्षेत्र में अभी रिसर्च की अपार संभावनाएं हैं।
इसे भी पढ़ें: Top 5 Fellowships: ये हैं देश के टॉप 5 फेलोशिप, जो बनाएंगे आपके करियर को बेहतर

मुद्राशास्त्र (Numismatics)
मुद्राशास्त्र में पुराने सिक्कों का अध्ययन किया जाता है। मुद्रा शास्त्रों में वे विद्वान भी शामिल हैं जो सरकारी संगठनों और विश्वविद्यालयों के साथ काम करते हैं। न्यूमिज़माटिक्स अध्ययन इतिहास और पुरातत्व अध्ययन का एक हिस्सा है और दुनिया भर में, बहुत कम संस्थान हैं जो मुद्राशास्त्र पर पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं। हालांकि यह एक शानदार करियर विकल्प है जो आपको इतिहास के नजदीक ले जाता है।

पौराणिक अध्ययन (Mythological studies)
अगर आपको पौराणिक कथाओं में रूचि है तो आप इस विषय का अध्ययन कर सकते हैं। यह सबसे अलग पाठ्यक्रम है। विदेशों में कुछ विश्वविद्यालय हैं, जो पौराणिक अध्ययन में डिग्री प्रदान करते हैं। वहीं भारत में सिर्फ मुंबई विश्वविद्यालय इस विषय में डिग्री प्रदान करता है। अगर आप कुछ ऑफबीट कोर्स करना चाहते हैं तो यह कर सकते हैं।