Cricketers Changed Their Religion: Cricketers Changed Their Religion Suraj Randiv Yousuf Youhana Kripal Singh

Cricketers Changed Their Religion: क्रिकेट एक ऐसा गेम है, जो दो देशों को करीब लाता है और उनके रिश्तों को मजबूत करता है. सभी धर्म के लोग क्रिकेट खेलते हैं. अक्सर मैदान पर आते हुए या शतक लगाने के बाद खिलाड़ियों को प्रार्थना करने के आकाश की ओर देखते हुए देखा जाता है. इसके पीछे सभी की अपनी-अपनी आस्था होती है. सभी लोग अलग-अलग रूप में भगवान को मानते हैं. हालांकि आज हम आपको कुछ ऐसा बताने जा रहे हैं जिसके बारे में बेहद कम क्रिकेट फैन्स को जानकारी होगी. हम कुछ ऐसे क्रिकेटर के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने अपने जीवन में प्यार के लिए या कुछ व्यक्तिगत कारणों से अपना धर्म बदला. चलिए जानते हैं उन क्रिकेटर्स के बारे में जिन्होंने अपना धर्म बदला.

सूरज रणदीव: श्रीलंकाई क्रिकेटर सूरज रणदीव को शायद ही कभी वीरेंद्र सहवाग भूल पाएं. क्योंकि उनके द्वारा फेंकी गई नो-बॉल की वजह से वीरू शतक से चूक गये थे. उस वक्त सहवाग 99 रनों पर नाबाद थे और बल्लेबाजी कर रहे थे. वहीं, भारतीय टीम को मैच जीतने के लिए एक रन की आवश्यकता थी. ऐसे में उनके द्वारा फेंकी गई नो-बॉल के कारण सहवाग अपना शतक पूरा नहीं कर पाये थे. सूरज रणदेव (Suraj Randiv) का नाम मोहम्मद मारसुक सूरज था. लेकिन कुछ कारणों से उन्होंने अपना धर्म बदल लिया और बौद्ध धर्म अपना लिया. अब उन्हें मोहम्मद सूरज के बजाय सूरज रणदीव के नाम से जाना जाता है.

मोहम्मद यूसुफ: यूसुफ योहाना का जन्म ईसाई परिवार में हुआ. लेकिन साल 2005-2006 में उन्होंने इस्लाम धर्म अपना लिया औ अपना नाम बदलकर मोहम्मद यूसुफ रख लिया. हलांकि उनके ऐसा करने पर परिवार ने शुरू में आपत्ति जताई. लेकिन बाद में वह मान गये. ईसाई से इस्लाम में परिवर्तित होने के बाद, उन्होंने दाढ़ी के साथ खेलना शुरू किया.  पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद यूसुफ पाकिस्तान क्रिकेट टीम के सबसे दिग्गज बल्लेबाजों में से एक रहे हैं. उन्होंने पाक टीम के लिये 90 टेस्ट, 288 वनडे और 3 टी-20 मुकाबले खेले.

एजे कृपाल सिंह: धर्म बदलने वाले क्रिकेटर की लिस्ट में भारतीय क्रिकेटर एजे कृपाल सिंह का नाम भी शामिल है. उन्होंने भारतीय टीम की तरफ से 14 टेस्ट मैच खेले. पूर्व भारतीय क्रिकेटर एजे कृपाल सिंह ने भी अपना धर्म बदल लिया. कृपाल का जन्म एक सिख परिवार में हुआ था. लेकिन बाद में उन्होंने शादी करने के लिए ईसाई धर्म अपना लिया. बाद में उन्होंने अपना नाम बदलकर अर्नोल्ड जॉर्ज रख लिया.

ये भी पढ़ें:

क्या पाकिस्तान की टी20 विश्व कप की टीम से खुश नहीं हैं बाबर आज़म? PCB ने मामले पर तोड़ी चुप्पी

ओवल में भारत की जीत के बाद इंजमाम उल हक ने विराट कोहली की तारीफ में पढ़े कसीदे, जानिए क्या कुछ कहा