Crime,accident,hamirpur News,hamirpur – ट्रैक्टर ट्राली पलटने से श्रमिक की मौत

राठ में शव सड़क पर रखकर जाम लगाए लोग व समझाते पुलिसकर्मी
– फोटो : HAMIRPUR

ख़बर सुनें

राठ (हमीरपुर)। सरिया से भरी ट्रैक्टर ट्राली अनियंत्रित होकर सड़क किनारे पलट गई। ट्राली पर सवार श्रमिक की दबकर मौत हो गई, चार श्रमिक घायल हुए हैं। घायलों को सीएचसी में भर्ती कराया गया है।
नगर के मियांपुरा मोहल्ला निवासी बालादीन प्रजापति ने बताया कि उनके छोटे भाई संतोष कुमार (36) मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करते थे। बुधवार सुबह मझगवां थाने के नौरंगा गांव से ट्रैक्टर ट्राली पर 30 क्विटंल सरिया लादकर राठ ला रहे थे। संतोष ट्राली पर बैठे थे। नगर के गुलाबनगर मोहल्ला निवासी मानसिंह (45), अतरौलिया मोहल्ला निवासी सेवाराम (50), प्रभु व सैदपुर गांव के मदनपाल (30) ट्रैक्टर पर थे। सेवाराम ने बताया कि चालक तेज गति से ट्रैक्टर चला रहा था। गांव के बाहर अनियंत्रित ट्रैक्टर ट्राली सड़क किनारे पलट गया। ट्रैक्टर चालक भाग निकला। नीचे दबे श्रमिकों को ग्रामीणों ने बाहर निकाला। संतोष की मौके पर ही मौत हो गई। घायल प्रभु को एंबुलेंस से सीएचसी में भर्ती कराया। मानसिंह, सेवाराम व मदनपाल को मामूली चोटें आईं।
मझगवां थानाध्यक्ष मिथलेश कुमार सिंह ने मौके पर जांच की। संतोष चार भाइयों बालादीन, दशाराम व राजू में तीसरे नंबर के थे। पत्नी रामश्री, पुत्रियों हिमांशी (13), शिवानी (10) व पुत्र आर्यन (8) का रो-रोकर बुरा हाल है।
सड़क पर शव रख लगाया जाम
पोस्टमार्टम के बाद परिजनों ने मियांपुरा तिराहे में मुख्य मार्ग पर शव रख कर जाम लगा दिया। मृतक की पत्नी रामश्री ने बताया कि उनकी दो नाबालिग पुत्रियां व एक पुत्र हैं। पति की मौत के बाद भरण पोषण का सहारा नहीं रहा। वहीं आरोप लगाया कि पुलिस ने ट्रैक्टर चालक के खिलाफ मामूली धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। उन्होंने दस लाख रुपये आर्थिक सहायता की मांग की। रोड जाम होने पर चार घंटे तक यातायात पूरी तरह बाधित रहा। तहसीलदार अभिनव चंद्रा व सपा लोहिया वाहनी के राष्ट्रीय सचिव सत्यपाल यादव ने परिजनों को समझाया। विधायक प्रतिनिधि भरत अनुरागी ने एक लाख रुपये नगद दिए। वहीं बाकी सहायता का भी आश्वासन दिया। जिसके बाद रात करीब आठ बजे जाम खुला। संवाद

राठ (हमीरपुर)। सरिया से भरी ट्रैक्टर ट्राली अनियंत्रित होकर सड़क किनारे पलट गई। ट्राली पर सवार श्रमिक की दबकर मौत हो गई, चार श्रमिक घायल हुए हैं। घायलों को सीएचसी में भर्ती कराया गया है।

नगर के मियांपुरा मोहल्ला निवासी बालादीन प्रजापति ने बताया कि उनके छोटे भाई संतोष कुमार (36) मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करते थे। बुधवार सुबह मझगवां थाने के नौरंगा गांव से ट्रैक्टर ट्राली पर 30 क्विटंल सरिया लादकर राठ ला रहे थे। संतोष ट्राली पर बैठे थे। नगर के गुलाबनगर मोहल्ला निवासी मानसिंह (45), अतरौलिया मोहल्ला निवासी सेवाराम (50), प्रभु व सैदपुर गांव के मदनपाल (30) ट्रैक्टर पर थे। सेवाराम ने बताया कि चालक तेज गति से ट्रैक्टर चला रहा था। गांव के बाहर अनियंत्रित ट्रैक्टर ट्राली सड़क किनारे पलट गया। ट्रैक्टर चालक भाग निकला। नीचे दबे श्रमिकों को ग्रामीणों ने बाहर निकाला। संतोष की मौके पर ही मौत हो गई। घायल प्रभु को एंबुलेंस से सीएचसी में भर्ती कराया। मानसिंह, सेवाराम व मदनपाल को मामूली चोटें आईं।

मझगवां थानाध्यक्ष मिथलेश कुमार सिंह ने मौके पर जांच की। संतोष चार भाइयों बालादीन, दशाराम व राजू में तीसरे नंबर के थे। पत्नी रामश्री, पुत्रियों हिमांशी (13), शिवानी (10) व पुत्र आर्यन (8) का रो-रोकर बुरा हाल है।

सड़क पर शव रख लगाया जाम

पोस्टमार्टम के बाद परिजनों ने मियांपुरा तिराहे में मुख्य मार्ग पर शव रख कर जाम लगा दिया। मृतक की पत्नी रामश्री ने बताया कि उनकी दो नाबालिग पुत्रियां व एक पुत्र हैं। पति की मौत के बाद भरण पोषण का सहारा नहीं रहा। वहीं आरोप लगाया कि पुलिस ने ट्रैक्टर चालक के खिलाफ मामूली धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। उन्होंने दस लाख रुपये आर्थिक सहायता की मांग की। रोड जाम होने पर चार घंटे तक यातायात पूरी तरह बाधित रहा। तहसीलदार अभिनव चंद्रा व सपा लोहिया वाहनी के राष्ट्रीय सचिव सत्यपाल यादव ने परिजनों को समझाया। विधायक प्रतिनिधि भरत अनुरागी ने एक लाख रुपये नगद दिए। वहीं बाकी सहायता का भी आश्वासन दिया। जिसके बाद रात करीब आठ बजे जाम खुला। संवाद