Delhi Crime News: Delhi Police caught Frauds with help of App: दिल्ली पुलिस ने ऐप की मदद से ठगों को पकड़ा

हाइलाइट्स

  • ऐप की मदद से पकड़े गए 8 लाख की ठगी के 4 आरोपी
  • सस्ता गोल्ड दिलाने के नाम पर पीड़ित को जाल में फंसाया गया
  • पुलिस ने ट्रू कॉलर पर आरोपी की मिली डिटेल से उन्हें जा पकड़ा

नई दिल्ली
हजरत निजामुद्दीन इलाके में 8 लाख रुपये की हुई धोखाधड़ी के एक मामले का खुलासा पुलिस ने ट्रू कॉलर की मदद से किया है। मामले में 4 मुलजिमों को पकड़ा गया है। चारों गुजरात में कच्छ के रहने वाले हैं। उन्हें राजस्थान के अजमेर के एक होटल से पकड़ा गया। इनके पास से 7.62 लाख रुपये, 6 मोबाइल, एक कार और अन्य सामान बरामद किया गया है।

साउथ ईस्ट दिल्ली पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार मुलजिमों में समा आफताब, सोधा साबिर, इमरान मुबारक ओर चानिया जुबेर हैं। सभी की उम्र 35 से 40 साल के बीच है। चारों दिहाड़ी मजदूरी का काम करते हैं। पुलिस ने बताया कि 29 सितंबर को जूलर पीड़ित शोभित मंगल ने हजरत निजामुद्दीन थाने में एक मामला दर्ज कराया था।

Delhi Cyber Crime: फेस्टिव सीजन में छूट वाली लिंक पर क्लिक करते हैं? सावधान रहें, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान
पीड़ित ने बताया था कि एक वेबसाइट पर उसे दुबई से बिना कस्टम डयूटी चुकाए लाए जा रहे गोल्ड को सस्ते में देने वाले जाल में फंसा लिया गया था। उसे शोएब बने आरोपी ने गुजरात के मांडवी पोर्ट पर मिलने के लिए कहा। पीड़ित ने उससे निजामुद्दीन दरगाह आने के लिए कहा। यहां शोएब और उसके दो साथियों को जूलर ने 8 लाख रुपये दिए थे। आरोपी ने कहा था कि वह 10 रुपये का फटा नोट चांदनी चौक के एक जूलर्स को देगा तो वह उसे सोना दे देगा। बाद में अपना फोन बंद कर लिया था। ठगी का शिकार होने पर जूलर ने इसकी शिकायत पुलिस में की थी। मामले में तफ्तीश करते हुए पुलिस ने ट्रू कॉलर पर आरोपी की मिली डिटेल से उन्हें जा पकड़ा। चारों अजमेर के एक होटल में ठहरे हुए थे।

Delhi-Police

पुलिस की गिरफ्त में चारों आरोपी