Dubai Expo 2020: मिलिए बग्गी गर्ल से जिसने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के लिए चलाई गाड़ी – Dubai Expo 2020 Meet buggy girl who has been driving Minister Piyush Goyal all VVIPs at India Pavilion ntc

स्टोरी हाइलाइट्स

  • मंत्री पीयूष गोयल के लिए 21 साल की जाह्नवी ने चलाई गाड़ी
  • पिछले दो साल से दुबई की सड़कों पर गाड़ी चला रही जाह्नवी
  • 6 महीनों के लिए दुबई एक्सपो में फिक्की के लिए काम करेंगे

दुबई एक्सपो 2020 (Dubai Expo 2020) में कई अद्भुत चीजें देखी जा सकती हैं, लेकिन एक चीज जो इंडिया पवेलियन में सबसे अलग है, वह है बग्गी गर्ल. 21 साल की जाह्नवी जो एक प्रोफेशनल की तरह गाड़ी चला रही है. वह एक्सपो गेट से प्रतिनिधियों और वीवीआईपी को इंडिया पवेलियन (India pavilion) तक ले जा रही हैं.

इंडिया पवेलियन में एक युवा ब्रिगेड है जो पूरे दिन सक्रिय रहता है और हर छोटी-बड़ी जानकारी को सुनिश्चित करता है.

ये युवा जो अपनी किशोरावस्था में हैं, जो अगले 6 महीनों के लिए दुबई एक्सपो की पूरी अवधि के दौरान फिक्की (फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री) के साथ काम करेंगे.

वो छोटी सी बग्गी गर्ल 

21 साल की जाह्नवी पिछले दो साल से दुबई की सड़कों पर गाड़ी चला रही हैं, इसलिए जब उन्हें दुबई एक्सपो के अंदर गाड़ी चलाने का मौका दिया गया तो उन्होंने इसे स्वीकार कर लिया. वह महज 15 मिनट की प्रशिक्षण अवधि से गुजरीं.

इसे भी क्लिक करें — दुबई एक्सपो में बोले PM मोदी- भारत अवसरों का देश, यहां आकर हमारी विकास गाथा का बनें हिस्सा

इंडिया पवेलियन को देखने पहले दिन 10 लाख से अधिक दर्शक पहुंचे, जिसका मतलब यह हुआ कि जाह्नवी के पास सांस लेने तक की फुर्सत नहीं थी. पूरा दिन डेलिगेट्स और वीवीआईपी को लाने-ले जाने में निकल गया और खाने तक का समय नहीं मिला.

आजतक से बात करते हुए जाह्नवी ने कहा, “मैं पिछले 24 घंटे में उन लोगों की संख्या गिनना भूल गई जिनको मैं लेकर आई-गई. मुझे गाड़ी चलानी आती है, लेकिन गाड़ी चलाने की आदत डालने में मुझे थोड़ा समय लगा.”

जाह्नवी ने यह भी कहा, ‘मैं पिछले 14 घंटों से लगातार काम कर रही हूं. हमें केवल अपने साथ पानी ले जाने की इजाजत है, इसलिए मैं इसे ले जा रही हूं. मैं शुरू में डर गई थी क्योंकि मुझे मंत्री पीयूष गोयल जैसे अहम प्रतिनिधियों के साथ ड्राइव करना पड़ा था, लेकिन मैंने ऐसा किया.’

जाह्नवी के अलावा और भी कई इंटर्न हैं जो सब कुछ सुचारू रूप से चलाने के लिए नींद और भूख को भूल गए हैं. 19 साल के छात्र वंश को यह सुनिश्चित करने का काम सौंपा गया है कि पवेलियन में आने वाले लोगों को आने और बाहर जाने के रास्तों के बारे में जानकारी दे ताकि लोग एक्सपो में घूमने के दौरान रास्ता भूल न जाएं.

इंडिया पवेलियन

आजतक के साथ बात करते हुए वंश ने कहा, “मैं एक एजेंसी के संपर्क में था, जिसने एक्सपो के लिए हायरिंग की थी. मैं कुछ अनुभव हासिल करना चाहता था. दुबई एक्सपो एक विश्व प्रसिद्ध संस्था है और यहां मेरी जिम्मेदारी मुझे एक क्रैश कोर्स दे रही है. यह बड़ी घटनाओं को संभालने जैसा है.”

वंश ने आगे कहा, “अनुभव मेरे लिए महत्वपूर्ण है, यह मेरी सीवी में मेरी मदद करेगा. मैं जीवन के सभी क्षेत्रों के लोगों को संभालना सीख रहा हूं और यह एक अविश्वसनीय बात है. उद्घाटन के दिन, मुझे खाने या बैठने तक का समय नहीं मिला.”

इंडिया पवेलियन एक हाई-टेक स्ट्रकचर के रूप में है जिसमें प्राचीन भारत और भविष्य के भारत का एक सभ्यतागत संगम है. यह 4 मंजिलों में फैला हुआ है. चार मंजिले स्ट्रकचर में फैले पवेलियन में योग, आयुर्वेद, साहित्य, कला, विरासत, व्यंजन और अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी को दर्शाया गया है.