Elderly Gm Was Robbed By Giving Him A Lift In The Car, Nine Stabbeds With A Screwdriver – बुजुर्ग जीएम को कार में लिफ्ट देकर लूटा, पेचकस से किए नौ वार

पेचकस से घायल बुजुर्ग जीएम। संवाद
– फोटो : Grnoida

ख़बर सुनें

ग्रेटर नोएडा। शहर में औजार गैंग फिर सक्रिय हो गया है। बृहस्पतिवार सुबह गिरोह ने कंपनी जा रहे एक बुजुर्ग जीएम को कार में लिफ्ट दी और आंख पर पट्टी बांधकर बंधक बना लिया। बदमाशों ने उन्हें दो घंटे तक कार में घुमाकर पर्स में रखे 1200 रुपये और डेबिट कार्ड से भी दो बार में 20 हजार रुपये निकाल लिए। विरोध करने पर बदमाशों ने पेचकस से नौ बार वार कर घायल कर दिया। पुलिस ने शिकायत के आधार पर केस दर्ज कर बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है।
पुलिस के अनुसार, सेक्टर बीटा-1 निवासी मृगेंद्र कुमार कटारिया (67) दिल्ली स्थित एक कंपनी में जीएम हैं। मृगेंद्र कार से आफिस जाते है, लेकिन बृहस्पतिवार को वह जाम आदि से बचने के लिए मेट्रो से जाने के लिए घर से निकले और रायन गोलचक्कर पर ऑटो का इंतजार करने लगे। इस बीच सफेद रंग की एक कार उनके पास आकर रुकी। इसमें चार बदमाश सवार थे। बदमाशों ने लिफ्ट देने के बहाने कार में बैठाया और हाथ से बैग ले लिया। मृगेंद्र को शक हुआ तो उन्होंने कहा कि लैपटॉप घर पर रह गया है। उन्हें वापस जाना है, लेकिन बदमाशों ने आंख पर पट्टी बांधकर बंधक बना लिया और सिटी पार्क से होते हुए डेल्टा-1 गोलचक्कर की ओर ले गए। इसके बाद पर्स लूटा और डेबिट कार्ड से भी रुपये निकाल लिए।
हमला किया तो बोले-पिता की उम्र का हूं
बदमाश जब हमला कर रहे थे तो बुजुर्ग ने कहा कि वह पिता की उम्र के हैं। इसके बावजूद आरोपियों ने नौ वार कर दिए। वहीं, बीटा-2 थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपियों ने पिन पूछकर एटीएम से रुपये निकाले हैं। पुलिस एटीएम और सीसीटीवी फुटेज जुटाकर बदमाशों की तलाश में जुट गई है।
तीन साल से सक्रिय है औजार गिरोह
यह पहला मामला नहीं है जब शहर में औजार गिरोह सक्रिय हुआ है। तीन साल में गिरोह ने कई वारदात को अंजाम दिया है। गिरोह त्योहारों से पूर्व सक्रिय होता है।
थाना प्रभारी लाइन हाजिर, अनिल राजपूत और महेंद्र देव सिंह की तैनाती
बुजुर्ग से लूट की घटना के बाद थाना प्रभारी रामेश्वर कुमार को लाइन हाजिर कर दिया गया है। इससे पहले बीटा-2 थाना क्षेत्र में ही ऑटो में सवार होकर जा रहे इंजीनियर मोबाइल लूट की घटना के दौरान सड़क पर गिरकर घायल हो गए थे। पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने थाना सेक्टर-58 प्रभारी अनिल राजपूत को बीटा-2 का थाना प्रभारी बनाया है। वहीं, ग्रेटर नोएडा जोन के एसीपी प्रथम प्रवीण कुमार सिंह को एसीपी यातायात बनाया गया है। उनके स्थान पर यातायात एसीपी महेंद्र देव सिंह को एसीपी प्रथम बनाया गया है।

ग्रेटर नोएडा। शहर में औजार गैंग फिर सक्रिय हो गया है। बृहस्पतिवार सुबह गिरोह ने कंपनी जा रहे एक बुजुर्ग जीएम को कार में लिफ्ट दी और आंख पर पट्टी बांधकर बंधक बना लिया। बदमाशों ने उन्हें दो घंटे तक कार में घुमाकर पर्स में रखे 1200 रुपये और डेबिट कार्ड से भी दो बार में 20 हजार रुपये निकाल लिए। विरोध करने पर बदमाशों ने पेचकस से नौ बार वार कर घायल कर दिया। पुलिस ने शिकायत के आधार पर केस दर्ज कर बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस के अनुसार, सेक्टर बीटा-1 निवासी मृगेंद्र कुमार कटारिया (67) दिल्ली स्थित एक कंपनी में जीएम हैं। मृगेंद्र कार से आफिस जाते है, लेकिन बृहस्पतिवार को वह जाम आदि से बचने के लिए मेट्रो से जाने के लिए घर से निकले और रायन गोलचक्कर पर ऑटो का इंतजार करने लगे। इस बीच सफेद रंग की एक कार उनके पास आकर रुकी। इसमें चार बदमाश सवार थे। बदमाशों ने लिफ्ट देने के बहाने कार में बैठाया और हाथ से बैग ले लिया। मृगेंद्र को शक हुआ तो उन्होंने कहा कि लैपटॉप घर पर रह गया है। उन्हें वापस जाना है, लेकिन बदमाशों ने आंख पर पट्टी बांधकर बंधक बना लिया और सिटी पार्क से होते हुए डेल्टा-1 गोलचक्कर की ओर ले गए। इसके बाद पर्स लूटा और डेबिट कार्ड से भी रुपये निकाल लिए।

हमला किया तो बोले-पिता की उम्र का हूं

बदमाश जब हमला कर रहे थे तो बुजुर्ग ने कहा कि वह पिता की उम्र के हैं। इसके बावजूद आरोपियों ने नौ वार कर दिए। वहीं, बीटा-2 थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपियों ने पिन पूछकर एटीएम से रुपये निकाले हैं। पुलिस एटीएम और सीसीटीवी फुटेज जुटाकर बदमाशों की तलाश में जुट गई है।

तीन साल से सक्रिय है औजार गिरोह

यह पहला मामला नहीं है जब शहर में औजार गिरोह सक्रिय हुआ है। तीन साल में गिरोह ने कई वारदात को अंजाम दिया है। गिरोह त्योहारों से पूर्व सक्रिय होता है।

थाना प्रभारी लाइन हाजिर, अनिल राजपूत और महेंद्र देव सिंह की तैनाती

बुजुर्ग से लूट की घटना के बाद थाना प्रभारी रामेश्वर कुमार को लाइन हाजिर कर दिया गया है। इससे पहले बीटा-2 थाना क्षेत्र में ही ऑटो में सवार होकर जा रहे इंजीनियर मोबाइल लूट की घटना के दौरान सड़क पर गिरकर घायल हो गए थे। पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने थाना सेक्टर-58 प्रभारी अनिल राजपूत को बीटा-2 का थाना प्रभारी बनाया है। वहीं, ग्रेटर नोएडा जोन के एसीपी प्रथम प्रवीण कुमार सिंह को एसीपी यातायात बनाया गया है। उनके स्थान पर यातायात एसीपी महेंद्र देव सिंह को एसीपी प्रथम बनाया गया है।