Hurun India Rich List: IIT के इस छात्र ने बना दिया ऐसा QR कोड, आज भारत के सबसे अमीर लोगों में होती है गिनती

IIFL Wealth Hurun India Rich List 2021: कोरोना महामारी ने देश में IT स्टार्टअप के मालिकों को काफी फायदा पहुंचाया. इसमें डिजिटल ट्रांजैक्शन फर्म भारतपे (BharatPe) के को-फाउंडर शाश्वत नकरानी (Shashvat Nakrani) भी शामिल हैं. 23 साल के नकरानी सबसे यंग अरबपति हैं, जो हुरुन इंडिया रिच लिस्ट 2021 (IIFL Wealth Hurun India Rich List 2021) में इस साल अपनी जगह बना पाएं है. 

नकरानी के स्टार्टअप भारतपे के यूनिकॉर्म बनने के बाद उनकी संपत्ति बढ़कर 1,700 करोड़ रुपये हो गई है. नकरानी हुरुन इंडिया रिच लिस्ट 2021 में उन 13 लोगों में शामिल हैं, जो 1990 के बाद पैदा हुए हैं.

Zee Business Hindi Live यहां देखें

 

19 साल की उम्र में बनाया था भारतपे

शाश्वत नकरानी (Shashvat Nakrani) ने 2018 में महज 19 साल की उम्र में अश्नीर ग्रोवर (Ashneer Grover) के साथ मिलकर भारतपे क्यूआर कोड (BharatPe QR Code) बनाया था. भारतपे एक ऐसा इकलौता क्यूआर कोड (QR Code) है, जिसे सभी पेमेंट प्लेटफॉर्म पेटीएम, गूगल पे, फोनपे अमेजन पे समेत 150 UPI पेमेंट एप्स द्वारा स्वीकार किया जाता है. 

शाश्वत नकरानी (Shashvat Nakrani) के पास IIT Delhi से टेक्सटाइल इंजिनियरिंग में ग्रेजुएशन की डिग्री है. 

46 यूनीकॉर्न फाउंडर है शामिल

हुरुन इंडिया रिच लिस्ट (Hurun India Rich List 2021) में इस बार 26 यूनीकॉर्न (Indian Unicorn) से 46 फाउंडर शामिल हैं. इसके साथ ही देश में इस वक्त 1000 से अधिक ऐसे लोग हैं, जिनके पास 1 हजार करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति है. हुरुन की लिस्ट के मुताबिक 2021 में भारत के 119 शहरों में कुल 1007 ऐसे लोग हैं, जिनके पास 1 हजार करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति है. 

1007 इंडियंस के पास है कुल 1,000 करोड़ रुपये की कुल संपत्ति, हुरुन इंडिया की रिच लिस्ट 2021 जारी

बढ़ी है अमीरों की संख्या

रिपोर्ट में कहा गया है कि अमीरों की संचयी संपत्ति में 51 फीसदी की बढ़त देखी गई, जबकि औसत वृद्धि 25 फीसदी की है. रिपोर्ट के मुताबिक 894 अमीरों की संपत्ति इस साल बढ़ी है या स्थिर रही है, जिसमें से 229 नए चेहरे इस सूची में शामिल हुए हैं. वहीं लिस्ट में 113 अमीर ऐसे हैं, जिनकी संपत्ति में गिरावट देखी गई और 51 अमीर इस लिस्ट से बाहर हो गए हैं. वर्तमान में भारत में कुल 237 अरबपति हैं, जो कि पिछले वर्ष की तुलना में 58 अधिक हैं.