Hyundai Motor India beats Maruti Suzuki in terms of Margin with less than half sale numbers

कारों की बिक्री के मामले में मारुति सुजुकी अभी मार्केट लीडर है, लेकिन पैसे कमाने के मामले में पहली बार हुंडई मोटर इंडिया ने उसे पीछे छोड़ दिया है। इसके लिए हुंडई ने अलग रणनीति बनाई।

हुंडई मोटर इंडिया (Hyundai Motor India) कारों की बिक्री के मामले में भले ही पीछे हो, लेकिन वह पैसे कमाने (Margin) के मामले में मारुति सुजुकी (Maruti Suzuki) से आगे निकल गई है। इसका प्रमुख कारण एसयूवी क्रेटा (SUV Creta) और एसयूवी वेन्यू (SUV Venue) जैसे अधिक मार्जिन देने वाले मॉडलों पर ध्यान देना है। दोनों कंपनियों की सालाना रिपोर्ट के आंकड़ों की तुलना करने पर यह जानकारी सामने आई है।

Maruti Suzuki की तुलना में आधी से भी कम है Hyundai Motor India की बिक्री

आंकड़ों पर गौर करें तो पिछले पांच वित्त वर्ष में हुंडई मोटर इंडिया का राजस्व सालाना पांच प्रतिशत की दर से बढ़ा है। मारुति सुजुकी का राजस्व वित्त वर्ष 2015-16 से वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान महज 3.38 प्रतिशत बढ़ा है। बिक्री के मामले में देखें तो यही आंकड़ा उलट जाता है। वित्त वर्ष 2020-21 में मारुति सुजुकी कुल बिक्री 14,57,861 रही। हुंडई का आंकड़ा इसके आधे से भी कम 5.6 लाख के करीब रहा।

अधिक मार्जिन वाले मॉडलों पर ध्यान देने से Hyundai Motor India को हुआ फायदा

इसका कारण हुंडई के एसयूवी मॉडल क्रेटा और वेन्यू का अधिक मार्जिन देना है। कंपनी ने अधिक मार्जिन वाले मॉडलों पर फोकस कर पैसा कमाने के मामले में बेहतर प्रदर्शन किया है। इसके अलावा कंपनी ने ऑपरेटिंग कॉस्ट और अन्य खर्च को कम करने तथा कच्चे माल का बेहतर प्रबंधन करने पर ध्यान देकर भी अपना मार्जिन बढ़ाया है। इन प्रयासों से हुंडई ने वित्त वर्ष 2020-21 में एक वाहन पर औसत लाभ को 72,471 रुपये तक पहुंचा दिया। मारुति सुजुकी का प्रति वाहन औसत लाभ इसकी तुलना में करीब आधी रह जाती है।

पिछले वित्त वर्ष के दौरान के आंकड़े को देखें तो हुंडई मोटर इंडिया का ऑपरेटिंग प्रॉफिट मारुति सुजुकी की तुलना में 78 प्रतिशत रहा। पिछले पांच वित्त वर्ष के दौरान इसका औसत 42 प्रतिशत रहा, जबकि बिक्री के मामले मारुति की तुलना में हुंडई का प्रतिशत महज 39 रहा। इससे पता चलता है कि हुंडई ने किस तरह से मार्जिन पर ध्यान देकर पैसे कमाने के मामले में मारुति को पीछे छोड़ा है।

कारों की औसत कीमत के मामले में मारुति से ढाई लाख आगे है हुंडई

अभी हुंडई मोटर इंडिया का ऑपरेटिंग प्रॉफिट मार्जिन 0.29 प्रतिशत बढ़कर 10.26 प्रतिशत पर पहुंच गया है, जबकि मारुति का यह मार्जिन पिछले नौ साल में पहली बार 10 प्रतिशत से नीचे गिर गया है। दोनों कंपनियों के विभिन्न मॉडलों की औसत कीमत देखें तो हुंडई के लिए यह 7.06 लाख प्रति कार है, जबकि मारुति के मामले में यह औसत 4.56 लाख रुपये रह जाता है।

इसे भी पढ़ें: दिवाली से पहले होंडा ने दी बंपर छूट, Honda City से Jazz पर 54 हजार तक के ऑफर

यह स्थिति तब है जबकि पिछले वित्त वर्ष में ऑटो सेक्टर महामारी से बुरी तरह से प्रभावित रहा है। इस दौरान हुंडई की बिक्री 12 प्रतिशत गिरकर 5.6 लाख पर आ गई। कुल राजस्व भी इस दौरान 5.3 प्रतिशत कम होकर 40,674 करोड़ रुपये रह गया।