Jis hospital se churai car, cash and mobile, fir wahin treatment karane pahunche chor

बृजेश्‍वर साकी

कांगड़ा. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा (Kangra) के ज्वालामुखी में चोरी की अनोखी घटना सामने आयी है. दरअसल चोरों ने बैंक, घर या फिर दुकान के बजाए अस्पताल को निशाना बनाकर चोरी की घटना को अंजाम दिया. यही घटना ज्वालामुखी के सरकारी सिविल अस्पताल (Government Civil Hospital) हुई है, जोकि अभी तक एक सराय में चल रहा है. हैरानी की बात है कि चोरों ने जिस अस्‍पताल में चोरी की घटना को अंजाम दिया था, उसी में कुछ समय बाद उनका मेडिकल हुआ.

बहरहाल, कांगड़ा के ज्वालामुखी स्थित सरकारी सिविल अस्पताल में शुक्रवार की रात दो चारों द्वारा चोरी की वारदात को अंजाम दिया. इस दौरान उन्‍होंने अस्पताल में इलाज करवाने आये मरीज की कार, नकदी और मोबाइल उड़ा लिए, लेकिन कुछ देर बाद उसी अस्पताल में दोनों आरोपियों मेडिकल का हुआ. दरअसल आरोपी जिस आल्टो कार को लेकर भागे थे उसका एक्सीडेंट थोड़ी दूर अद्धे दी हट्टी में हो गया. इस दौरान दोनों आरोपियों को हल्की चोटें आईं और उन्‍हें इलाज के लिए सरकारी सिविल अस्पताल में लाया गया था.

ऐसे पुलिस के हत्‍थे चढ़े दोनों चोर
वहीं, कार चोरी की सूचना के बाद मुस्तैदी दिखाते हुए एसएचओ जीत सिंह के नेतृत्‍व वाली टीम ने रात को ही चोरों को पकड़ लिया. इसके बाद आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया और पुलिस को तीन दिन की रिमांड मिली गयी है. इसके अलावा अस्पताल परिसर में मरीजों व तीमारदारों में भी दहशत का माहौल है. जानकारी के अनुसार, शुक्रवार देर रात ज्वालामुखी क्षेत्र के दो युवकों ने इस पूरी घटना को अंजाम दिया है, जिनकी पहचान नवीन उर्फ बिट्टा उम्र 21 पुत्र सुरेश कुमार निवासी अम्ब और सूरज कुमार उम्र 23 पुत्र विजय कुमार वार्ड 1 ज्वालामुखी के रूप में हुई है.

अस्‍पताल में बना दहशत का माहौल
जबकि अस्पताल में मरीजों के सामान की चोरी का सनसनीखेज मामला सामने आते ही अस्पताल प्रबंधन भी सवालों के घेरे में है. इस मामले में गगडूही क्षेत्र के एक बुजुर्ग कहा कि वह अपने वार्ड में जाग रहे थे, वरना यह दोनों उनके वार्ड में भी घुस कर किसी वारदात को अंजाम दे सकते थे. ऐसे मामलों की पुनरावृत्ति ना हो इसके लिए अस्पताल प्रबंधन को रात्रि ड्यूटी पर तैनात कर्मियों से जवाब मांगना चाहिए. हालांकि अस्पताल में सीसीटीवी कैमरे भी लगे हैं, लेकिन फिर भी ऐसी वारदात होने से मरीजों और तीमारदारों में दहशत का माहौल जरूर बन गया है. जबकि एक अन्‍य मरीज श्रवण कुमार निवासी तहसील डाडासीबा ने बताया कि वह पत्थरी का इलाज करवाने अस्पताल में दाखिल हुए थे. रात करीब 1:30 बजे वह बाथरूम गए और जब वापस आये तो उनका पर्स, नकदी, मोबाइल और गाड़ी की चाबी भी गायब थी. वहीं,अस्पताल से अचानक चोर-चोर चिल्लाने की आवाजें आने लगीं. इस दौरान चोर उनकी कार लेकर भाग गए. इसके बाद पुलिस का सूचना दी. सूचना मिलने के बाद एसएचओ जीत सिंह की टीम ने त्वरित कार्यवाई करते हुए अद्धे दी हट्टी से आल्टो कार को दो युवकों से बरामद कर लिया,,क्‍योंकि उनका एक्‍सीडेंट हो गया था. वहीं, लोग हैरान थे कि जिस अस्पताल से युवकों ने चोरी की घटना को अंजाम दिया, वह वहीं मेडिकल करवाने पुलिस के साथ पहुंच गए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.