Lucknow Lakhimpur Kheri Violence Crime Branch Summoned Ashish Mishra – लखीमपुर खीरी हिंसा में क्राइम ब्रांच ने आरोपी आशीष मिश्र को किया तलब घर पर नोटिस चस्पा, गिरफ्तारी संभव

– लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में क्राइम ब्रांच ने मुख्य आरोपी आशीष मिश्र मोनू को शुक्रवार सुबह 10 बजे तलब किया है। जहां आशीष मिश्र अपना बयान दर्ज कराएंगे।

लखनऊ. Lakhimpur Kheri violence लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में क्राइम ब्रांच ने मुख्य आरोपी आशीष मिश्र मोनू को शुक्रवार सुबह 10 बजे तलब किया है। जहां आशीष मिश्र अपना बयान दर्ज कराएंगे। संभावना जताई जा रही है कि क्राइम ब्रांच उन्हें गिरफ्तार भी कर सकता है। साथ ही सूचना के लिए केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के घर पर नोटिस भी चस्पां कर दिया है। इसके साथ ही गिरफ्तार दो लोगों पूछताछ शुरू हो गई है।

आशीष मिश्र को तलब किया गया है :- आईजी लक्ष्मी सिंह

जांच के सिलसिले में एडीजी लखनऊ एसएन साबत और आईजी लक्ष्मी सिंह भी खीरी पहुंची। आईजी लक्ष्मी सिंह ने बताया कि, केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्रा को पूछताछ के लिए पुलिस जांच कमेटी के सामने बुलाया गया है। घटनास्थल पर मौजूद दो लोगों से भी पुलिस ने पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस की जांच टीम ने घटनास्थल का निरीक्षण कर सुबूत जुटाए हैं। देर शाम पुलिस ने केंद्रीय मंत्री के बेटे से पूछताछ के लिए उनके घर पर नोटिस चस्पा कर दिया। उन्हें शुक्रवार सुबह 10 बजे क्राइम ब्रांच कार्यालय में उपस्थित होने को कहा गया है।

चप्पलें और दो कारतूस के खोखे बरामद :- आइजी रेंज ने कहा कि घटनास्थल पर तमाम छूटी चप्पलें ही नहीं, दो कारतूस के खोखे भी बरामद हुए हैं। जिनकी छानबीन की जा रही है। पुलिस की तकनीकी व विशेषज्ञों की टीम दो बार मौका मुआयना कर चुकी है और सुबूत का परीक्षण कर रही है।

अजय मिश्र टेनी को बर्खास्त करने की मांग :- लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी सहित सभी विपक्षी पार्टियां केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी को बर्खास्त करने की मांग लगातार उठ रही है। उनका कहना है कि पद पर रहते हुए अजय मिश्र टेनी जांच को प्रभावित कर सकते हैं।

नौ सदस्यीय पर्यवेक्षक समिति करेगी जांच :- उत्तर प्रदेश शासन ने गुरुवार सुबह प्रकरण की न्यायिक जांच के लिए इलाहाबाद हाई कोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति प्रदीप कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में एकल सदस्यीय आयोग गठित किया तो देर शाम डीजीपी मुकुल गोयल ने खीरी के तिकुनिया थाने में दर्ज दो मुकदमों की विवेचना के लिए पर्यवेक्षण समिति का विस्तार कर दिया। निष्पक्ष और पारदर्शी विवेचना के लिए पर्यवेक्षण समिति में दो आइपीएस अधिकारियों को शामिल किया गया है। अब डीआइजी उपेंद्र अग्रवाल की अगुवाई में नौ सदस्यीय पर्यवेक्षण समिति दोनों मुकदमों की विवेचना करेगी।

लखीमपुर खीरी हिंसा : एकल न्यायिक जांच आयोग का गठन, हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज प्रदीप कुमार श्रीवास्तव करेंगे जांच






Show More