Maruti Suzuki Ertiga and XL6 Only registered growth in sales all other gets failed in September

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी घरेलू बाजार में अपनी किफायती और बेहतर माइलेज वाली कारों के लिए मशहूर रही है। तकरीबन हर सेग्मेंट में मारुति सुजुकी की कारें सबसे बेहतर प्रदर्शन करती नज़र आती हैं। लेकिन पिछले कुछ महीनों से कंपनी की बिक्री लड़खड़ाती हुई दिख रही है। बीते सितंबर महीने में तो कंपनी के तरकरीबन हर मॉडल की बिक्री में गिरावट आई है, केवल दो एमपीवी मॉडल ही ऐसे हैं जिन्होनें ग्रोथ दर्ज की है।

Maruti Suzuki के पास पैसेंजर कार सेग्मेंट में सबसे बेहतर लाइनअप मौजूद है, यहां तक कि सीएनजी मॉडलों में भी कंपनी का कोई सानी नहीं है। लेकिन हाल के दिनों में बाजार में प्रतिद्वंदिता तेजी से बढ़ी है। एक तरफ किया मोटर, एमजी मोटर जैसे नए प्लेयर्स ने बाजार में एंट्री की है तो दूसरी ओर टाटा मोटर्स ने भी अपने वाहनों के निर्माण प्रक्रिया में बदलाव करते हुए एक से बढ़कर एक गाड़ियों को पेश किया है। 

ऐसे में इसका सबसे बड़ा प्रभाव देश की बेस्ट सेलिंग कार कंपनी मारुति सुजुकी पर ही देखने को मिल रहा है। बीते सितंबर महीने में कंपनी का न केवल मार्केट शेयर कम हुआ है, बल्कि टॉप 10 की सूचि में भी कंपनी की कारें बाहर होती दिख रही हैं। यदि बिक्री के आंकड़ों पर गौर करें तो बीते सितंबर महीने में कंपनी की बिक्री में पूरे 57.3 प्रतिशत की भारी गिरावट आई है। यानी कि बिक्री आधी हो चली है, इस दौरान मारुति अल्टो कंपनी की बेस्ट सेलिंग कार रही है और इसकी बिक्री भी पिछले साल के सितंबर महीने के मुकाबले 33% घट गई है।

इन दो मॉडलों ने दर्ज की ग्रोथ: 

maruti suzuki ertiga

1)- Maruti Ertiga: 

मारुति सुजुकी अर्टिगा हमेशा से अपने सेग्मेंट में सबसे ज्यादा लोकप्रिय रही है। इसका एक कारण ये भी है कि ये कार पेट्रोल इंजन के साथ ही सीएनजी वेरिएंट में भी उपलब्ध है। देश के कुछ शहरों में तो Ertiga CNG का वेटिंग 8 से 9 महीनों तक पहुंच गया है। वहीं पेट्रोल वेरिएंट भी शानदार प्रदर्शन कर रहा है। बीते सितंबर महीने में कंपनी ने इस कार के कुल 11,308 यूनिट्स की बिक्री की है, जो कि पिछले साल के इसी महीने के मुकाबले 13% ज्यादा है। 

7 सीटों वाली इस कार में कंपनी ने 1.5 लीटर की क्षमता का पेट्रोल इंजन प्रयोग किया है जो कि 105PS की पावर और 138Nm का टॉर्क जेनरेट करता है। ये इंजन 5 स्पीड मैनुअल और 4 स्पीड टॉर्क कन्वर्टर ट्रांसमिशन गियरबॉक्स के साथ आता है। सका पेट्रोल मैनुअल वेरिएंट 19 किलोमीटर प्रतिलीट और ऑटोमेटिक मॉडल 17.99 किलोमीटर प्रतिलीटर का माइलेज देता है। वहीं कंपनी का दावा है कि इसका सीएनजी वेरिएंट 26.08 किलोमीटर प्रतिकिलोग्राम तक का माइलेज देता है। 

maruti suzuki xl6 sales

2)- Maruti XL6: 

मारुति सुजुकी के NEXA डीलरशिप के माध्यम से बेची जाने वाली ये 6 सीटर कार मुख्य रूप से Ertiga पर ही बेस्ड है। बस कंपनी ने इस कार में कुछ जरूरी बदलाव किए हैं, जो कि इसे अर्टिगा से अलग बनाते हैं। जहां एक तरफ मारुति की बेस्ट सेलिंग कारें सितंबर महीने में फिसड्डी साबित हुई हैं वहीं इस कार ने बिक्री में पूरे 80% की ग्रोथ दर्ज की है। कंपनी ने सितंबर महीने में इस कार के कुल 3,748 यूनिट्स की बिक्री की है, जो कि पिछले साल के सितंबर महीने में महज 2,087 यूनिट्स थें। 

मारुति सुजकी ने इस कार को साल 2019 में पहली बार पेश किया था। ये कार कुल 6 वेरिएंट्स एक पेट्रोल इंजन और दो ट्रांसमिशन गियरबॉक्स के साथ आती है। कंपनी ने इसके दूसरी पंक्ति (सेकेंड-रो) में कैप्टन सीट्स दिए हैं जो कि इसके केबिन को और भी प्रीमियम बनाता है। इस एमपीवी में कंपनी ने 1.5 लीटर की क्षमता का पेट्रोल इंजन प्रयोग किया है, जो कि मारुति अर्टिगा में भी दिया गया है। ये इंजन माइल्ड हाइब्रिड तकनीक से लैस है और 105PS की पावर और 138Nm का टॉर्क जेनरेट करता है। ये कार 5 स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन और 4 स्पीड टॉर्क कन्वर्टर ऑटोमेटिक गियरबॉक्स के साथ आती है। 

ये कार कंपनी के खास Heartect प्लेटफॉर्म पर तैयार की गई है और इसे नेक्सा सेफ्टी शिल्ड मिलता है। इस कार में EBD (इलेक्ट्रॉनिक ब्रेक फोर्स डिस्ट्रीब्यूशन) के साथ डुअल फ्रंट एयरबैग, ABS (एंटी-लॉक ब्रेकिंग सिस्टम) शामिल हैं। इसके अलावा प्री-टेंशनर्स और फोर्स लिमिटर के साथ फ्रंट सीटबेल्ट, ISOFIX, हिल होल्ड असिस्ट, ESP (इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी प्रोग्राम), हाई स्पीड वार्निंग अलर्ट, ड्राइवर/को-ड्राइवर सीट बेल्ट रिमाइंडर और रिवर्स पार्किंग सेंसर एक स्टैंडर्ड फिटमेंट के रूप में दिए गए हैं। सामान्य तौर पर इसका मैनुअल वेरिएंट 17.99 किलोमीटर प्रतिलीटर और ऑटोमेटिक वेरिएंट 19.01 किलोमीटर प्रतिलीटर का माइलेज देती है।