Questions raised on India-Nepal border security, investigation started in recovered human skeleton case, two were detained

India-Nepal Border पर बरामद हुए मानव कंकाल मामले पर जांच तेज हो गई है। दो को डिटेन किया गया है। पूछताछ की जा रही है। वहीं इंडो-नेपाल बार्डर सुरक्षा पर सवाल उठने लगे हैं। सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं…

संवाद सूत्र, जोगबनी (अररिया)। भारत नेपाल सीमा (India-Nepal Border) जोगबनी के नेपाल भंसार क्षेत्र के दो नंबर बैरियर पर मानव कंकाल की बरामदगी मामले में जांच तेज हो गई है। नेपाल पुलिस ने कंकाल को जांच के लिए लैब में भेज दिया है। इस मामले में दो को हिरासत में लेकर सघन पूछताछ की जा रही हैं। इतना ही नहीं भारतीय सीमा होकर मारूति के प्रवेश करने की चर्चा पर एसएसबी भी सीसीटीवी फुटेज तलाश रही हैं। क्योंकि सीमा पार नेपाल शस्त्र पुलिस बल ने जांच के दौरान मानव कंकाल को बरामद किया है जिससे सीमा सुरक्षा पर भी सवाल उठना लाजिमी है ।

जोगबनी सीमा से नेपाल जाने वाले नेपाल नंबर चार पहिया वाहन बिना जांच के ही सीमा पर आ जा रही है। जोगबनी स्टेशन से रात के समय निकली उक्त मारूति वैन बिना जांच के ही सीमा पार कर गई। जो सीमा पर तैनात सुरक्षाकर्मियों की बड़ी चूक मानी जा रही है। जबकि नेपाल सीमा में पहुंचते ही मानव कंकाल की बरामदगी हुई। नेपाल सशस्त्र बल के एसपी तीर्थ पौडेल के अनुसार बरामद कंकाल पहले कछुवा के ढाड के हड्डी वन्यजन्तु के अंग होने का अंदेशा जताया गया था। लेकिन जांच में मानव अंग के कंकाल होने की बात सामने आ रही है।

उन्होंने बताया कि वन कार्यालय के वन अधिकारी कमल किशोर यादव और रानी हेल्थ डेस्क के चिकित्सा अधिकारी सहित विशेषज्ञों ने हड्डियों का निरीक्षण किया और पाया कि 28 मानव खोपड़ी की हड्डियां और 10 मानव अंग ट्यूब हैं। कुल मिलाकर 38 पीस मानव हड्डियों के अंग होने की पुष्टि की गई है। इस सबंध में मोरंग एसपी जनार्दन जीसी के अनुसार यह मानव हड्डी किसके द्वारा किस उद्देश्य से मंगाया गया और किसका वाहन प्रयोग किया गया इस संबंध में पुलिस बारीकी से जांच करते हुए इसके चालक को भी खोजा जा रहा है ।जल्द ही मामले का उछ्वेदन किया जाएगा।

सशस्त्र बलों के पुलिस अधीक्षक, नेपाल पुलिस के पुलिस अधीक्षक और आरएबी के एक प्रतिनिधि की एक टीम ने बीओपी रानी का दौरा किया और मामले की जांच की। जोगबनी से रात में नेपाल प्रवेश किए नेपाली नंबर के मारुति वैन संख्या को 2 च 9648 शंकास्पद अवस्था में नेपाल प्रवेश किया था जिसे सशस्त्र पुलिस के द्वारा वैन की जांच के क्रम में भंसार कर्मियों एवं सशस्त्र बल के पहले हम पहले हम के चक्कर में चालक फरार हो गया हालांकि प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो उक्त वेन में एक महिला व एक पुरूष थे। जो मौके से फरार है।